इंटीरियर डिजाइनर (INTERIOR DESIGNER) कैसे बने और कैसे करे

दोस्तों क्या आप भी फर्नीचर के कामो में एक्सपर्ट है अगर हैं या आपको थोड़ा भी मन है और आपको लगता है की मैं इसे सिख कर अपना करिअर बना सकते है तो आपको इसमें थोड़ा सा इंट्रेस्ट तो रखना होगा तो अगर आप इंटीरियर डिजाइनर बनना चाहते है तो आप सही वेब को visit किये है इसमें आपको सारि जानकरी दी जाएगी जैसे में इंटीरियर डिजाइनर की सैलरी कितनी होती है INTERIOR DESIGNER SALARY और इंटिरयर डिजाइनर की फीस कितनी होती है INTERIOR DESIGNER FEES ऐसी जानकारी आप जानने वाले है

तो यार आपको  इंटीरियर डिजाइनर बनने से पहले How to become an interior designer आपको ये पता होना चाहिए की आपको क्या करना पसंद है क्यूंकि ये अपने जीवन के बारे में बहुत बड़ा सवाल है क्यूंकि अगर आपको  जड़ ही पता नहीं रहेगा तो आप ये  इंटीरियर डिजाइनर करने का कोई मतलब नहीं निकलेगा.

इंटीरीयर डिजाइनर बनने के लिए क्या करे (interior designer bnne ke liye kye kre)

दोस्तों इंटीरियर डिजाइनर जो होता है ओ करियर कुछ अलग टाइप का होता है जो की आपको एक प्रस्ताव रखता है यानि की अगर आप इंटीरियर डिजाइनर बन जाते हो तो आपको हर दिन एक मुश्किल का सामना करना होगा तो इसी लिए आपको इंटीरियर डिजाइनर की पूरी सच्चाई जननी होगी और अगर आप बिना जाने इंटीरियर डिजाइनर का कोर्स कर लोगे तो आपको फ्यूचर में कोई दिक्कत का सामना नहीं करना होगा.

इंटिरियर डिजाइनर बनने के लिए क्या करे
pixaby

डिजाइनर और डेकोरेटर में क्या अंतर है  (What is the difference between designer and decorators)

ये दोनों में अंतर की बात की जाये तो इसमें से आपको पढ़ाई का अंतर देखने को मिलता है
अगर कोई कोई मानुसिये ये चाहे की हम सिर्फ रंगो का पहचान करके डेकोरेटर डिजाइनर बन जाये तो आप बन सकते है लेकिन इसके बाद अगर हम चाहे तो डायरेक्ट इंटीरियर डिजाइनर नहीं बन सकते है क्यूंकि अगर आपको इंटीरियर डिजाइनर वकिये में बनना है तो उसके लिए आपके पास विधिवत् ज्ञानार्जन की सकती होनी चाहिए.

डिजाइनिंग सिखने की छमता (The ability to learn)

दोस्तों इंटीरियर डिजाइनर की खूबी ये होता है की जो लोग इंटीरियर डिजाइनर का कोर्स किये होते है उन्हे अगर बोलै जाये की आप ये जगह को डिजाइन कीजिए एक घंटा में और ओ काम डेकोरेटर डिजाइनर से बोला जाये एक घंटा में करने के लिए तो उनसे ये काम नहीं होगा.

इंटीरियर डिजाइनर में काम  (Work in interior Designer)

इंटीरियर डिजाइनर में केवल फर्नीचर का काम नहीं बल्कि उसके इलावा और भी कई काम होते है और इसमें आपको जायदा तर संत रह कर काम करना होता है ऐसा इसलिए है क्यूंकि इसकी जितनी भी कंपनी है ओ सरे बहुत आस्ट्रिक है इसी वजह से इसमें आप कोई हसीं मजाक नहीं कर सकते सिर्फ काम को करना होता है.

और इसके बजाये आपको पुराणी यादो को यद् रखना होगा क्यूंकि इंटीरियर डिजाइनर का काम होता है किसी भी जगह को डिजाइन करना तो अगर आपको बिना किसी चीज की मदत से एक जगा को डिजाइन करना है तो आप कैसे करेंगे तो इसी कारण आपको कम्प्यूटर के कोड्स को भी याद रख के काम करना होगा साफ साफ बातये तो आपको इसमें जो राजा मह राजा के ज़माने में इमारते थी ये सभी जगहों को धयान में रखना होगा.

इंटीरियर डिजाइनर बन जाने के बाद आपको घर को डिजाइन करने का स्किल्स होना बहुत जरुरी है इसके बाद आपको किसी अनिये जगह को भी डिजाइन करने की छमता होना चहिये और अगर आप इंटीरियर डिजाइनर बन जाते हो तो आपको सरकार के तरफ से भी बुलावा आता है काम करने के लिए.

इंटीरियर डिजाइनर की कमाई का जरिया

दोस्तों क्या आप इंटीरियर डिजाइनर की कमाई के बारे में जानना चाहते है तो आप कुछ देर में जान जायेंगे वैसे जानना चाहे गे भी क्यों नहीं क्यंकि आपका करियर जो इंटीरियर डिजाइनर से बनने वाला है और अगर आपका सोक है बनना तो जानना जरुरी है.

दोस्तों इंटीरियर डिजाइनर की कमाई तो ठीक ठाक है लेकिन अगर आपको इंटीरियर डिजाइनर की कंपनी जॉब नहीं देगी तो कमाई थोड़ी कम होगी और अगर इंटीरियर डिजाइनर आप पूरी ट्रेनिंग लिए हुए है तो आपको इंटीरियर डिजाइनर में जॉब जरूर मिलेगी.

अगर आप अच्छी जॉब की खोवहिस रखते है तो आप को इंटीरियर डिजाइनर की भी अच्छी नॉलेज होना चाहिए तभी आप कोई अच्छी जॉब के लिए त्यार हो सकते हो क्यूंकि बिना अच्छी नॉलेज की इंटीरियर डिजाइनर की कोई भी कंपनी जॉब को नहीं देती है.

एक्सप्रिएंस मनुस्या (Experience Human)

दोस्तों अगर आपको अपने रूम को डिजाइन करना है तो आपको एक्सप्रिएंस इंटीरियर डिजाइनर को बुलाना होता है और अगर आपको अपने मन के मुताबिक घर को डिजाइन करवाना है तो ये काम इंटीरियर डिजाइनर आसानी से कर देता है लेकिन वही आप इंटीरियर डिजाइनर को सिर्फ यही बोलते है की मुझे डिजाइन निकल वाना है तो ये इंटीरियर डिजाइनर के लिए थोड़ी मुश्किल होता है और इसी प्रकार जो एक्सप्रिएंस होता है ओ जायदा टेंसन न लेते ये काम को आसानी से कर देता है.

और इंटीरियर डिजाइनर को अपने दिमाग में ये बैठा लेना होता है की ग्राहक को एक अच्छी डिजाइन दिया जाये

संविभाग को बंनाये (Make portfolio)

आप अपने लिए एक सूचि तैयार करे क्यूंकि संविभाग बनना रहेगा तो आपको कहि भी जॉब मिल जाएगी और अगर आप के पास यानि की आपके हुनर के साथ portfolio बना रहेगा तो आपको मर्केट में क्रेडिट बंनाने में काफी आसानी होगी पोर्टफोलियो मतलब आपकी छमता होता है.

दोस्तों जैसे जैसे आप अपनी हैबिट को बढ़ते है वैसे वैसे आपको INTERIOR DESIGNER में एक्सपीरिएंस बढ़ता चला जाता है और अगर आप मार्किट में अपना नाम करना चाहते है तो जमाने के लिए आपको कस्टमर लोगो को सेवा अच्छे देने होते है तभी आपको मार्किट में कोई जानेगा और ओ आपको काम सौपेगा.

इसी लिए आपको कोसिस करना है की अच्छे प्रोजेक्ट को बना के कस्टमर लोगो को दे ताकि ओ हर बार आपको एक अच्छी कॉन्टेक्ट दे तो आपको पोर्टफोलियो को बंनाना है.

कम्पीटिशन केसा है इंटीरियर डिजाइनिंग (How is the interior designing competition?)

दोस्तों क्या आप को पता है की INTERIOR DESIGNING में बहुत जायदा कम्पीटिशन हो गया है और अभी INTERIOR DESIGNER की पढ़ाई की सोच रहे है तो आपको इनसे भी कम्पीटिशन करके आगे बढ़ना होता है तभी आप INTERIOR DESIGNER के फिल्ड में कॉलिफाई क्र सकते है और कॉलिफाई करने के लिए आपको INTERIOR DESIGNER की जानकारी अच्छी चहिये.

और अगर आपको ये जानना है की INTERIOR DESIGNER कॉलिफाई कैसे करे तो सिंपल आपको सिर्फ इसी में धयान लगते हुए इसकी पढ़ाई करनी होगी यानि की आपको पूरी तरह से अपडेट रहना है मतलब अभी मार्किट में क्या चल रहा है ये सब की जानकारी रखना होगा और इसकी जानकारी रखने के लिए आपको इससे रिलेटेड वेब साइड जैसे freshome को विजिट करते रहना है.

कस्टमर को महत्व दें Value of customer

दोस्तों आप कहि डिजाइन का काम करते है तो आपको ये धयान में रखना होगा की आपको कस्टमर के मर्जी से काम करना है और यही अगर आप उन्हें ये बोल कर की ये अच्छा रहेगा आप ये करवा लो तो ये गलत है आपको सारि बातें कस्टमर पे छोड़ देना है ताकि ओ अपने हिसाब से बता सके.

और ये काम के बारे में अगर कस्टमर कहता है तो आपको  वैसा ही करना है ताकि आप पे कोई दबाव ना आये और सरे कस्टमर आपके परमानेंट कस्टमर बन जाये.

YOU MAY ALSO LIKE!

क्या काम होता है इंटीरियर डिजाइनर के (What works for interior designers)

दोस्तों ये सब जानकरी के बाद आपको ये लगता होगा की आखिर INTERIOR DESIGNER के काम ही क्या होता है तो इसमें काम ज्यादा बड़ा नहीं होता है और इसमें जो काम होता है ओ नार्मल केटेगरी में आता है इसमें मकान के रूम को सजाया जाता है या फिर कोई बड़े जगहों को सूंदर सा सजाय जाता है और INTERIOR DESIGNER में कुछ ऐसा भी है जो आपको जानना चाहिए.

जब भी कोई काम की बात हो डिजाइनिंग की तो आपको पहले उसकी राइ जननी है यानि उससे काम के बारे में अच्छे से बात करनी ही पेसो की डील भी उसी समय कर लेनी है और डिजाइन के बारे में अच्छे से जान लेना है की कस्टमर को डिजाइन केसा चाहिए और जो घर के डिजाइन का काम होता है उसमे कस्टमर को आईडीए देना है.

डिजाइनर की इनकम (Interior designer’s income)

आप ये जानना जरूर चाहेंगे की आखिर INTERIOR DESIGNER का कोर्स करके कितने पैसे कमा सकते है या कमाने वाले है अगर पैसे की बात है तो जो छोटे INTERIOR DESIGNER होते है ओ लोग एक महीना में 20000 से 25000 रुपए पैसे कमा लेते है आप अपने हिसाब से 1 साल ला जोड़ सकते है.
और जो एक्सप्रिएं इंजिनेर होते है ओ महीने का 30000 से 35000 रूपए कमा लेते है और इसे भी आप जोड़ सकते है आंकड़ा के तोर पे.

इंटीरियर डिजाइनर बनने की योग्यता (Ability to become an interior designer)

आपको INTERIOR DESIGNER के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए 12th में आर्ट्स लेना होगा और आगे की जो गेरजुवेशन डिग्री है उसमे भी आपको आर्ट्स लेना है क्यूंकि ये इतिहास का कोर्स है इतिहास के बारे में जानकार ही डिजाइन का आईडीए आता है.

और INTERIOR DESIGNER की पढ़ाई जो होती है उसके बारे में आपको कॉलेज में सारि जानकारी प्राप्त हो जाएगी लेकिन थोड़ी बहुत जानकरी में दे देता हूँ.

इंटीरियर डिजाइनर में कोण कोण से कोर्स है

स्पेशल डिजाइन
किरयेटिव टेक्निक
प्रफेसनल इंटीरियर डिजाइन स्किल्स

ट्रेनिंग का जरिया Means of ट्रेनिंग

दोस्तों ट्रेनिंग की बात करे तो इसमें आप ट्रैनिग लेने के सात इसकी पढ़ाई भी पूरी कर सकते है और आप INTERIOR DESIGNER का काम सुरु भी कर सकते है और ये आप एक बार चालू कर देंगे तो आपका नॉलेज INTERIOR DESIGNER में अच्छी तरह से बढ़ जायेगा.