B ED Me Kitne Subject Hote hai | B ED में कौन-कौन से विषय होते हैं?

अभी हम आपको B ED से जुडी जानकारी देने वाले है तो यदि आप B ED Me Kitne Subject Hote hai यह जानने में इंट्रेस्ट रखते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने की कोसिस करें यदि इस आर्टिकल को आप पूरा पढ़ते हो तो बीएड करने की सारी जानकारी प्राप्त कर सकते है

B ED Me Kitne Subject Hote hai
B ED Me Kitne Subject Hote hai

आज हम इस आर्टिकल में जानने वाले है की B ED Me Kitne Subject Hote hai या फिर आपको बीएड में कितने विषयों का अध्ययन करना होता है। दोस्तों अगर आप बीएड का कोर्स करना चाहते है तो आपको यह पहले जान लेना अतिआवश्यक होता है की इस कोर्स में किस किस विषयों का अध्ययन करवाया जाता है। तो अगर आप यह जानना चाहते है कि B ED में कितने विषय होते है तो आप इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ सकते है।

B ED में कौन-कौन से विषय होते हैं? (B ED Me Kitne Subject Hote hai)

दोस्तों जैसे कि हमने आपको ऊपर ही बता दिया कि बीएड करने से पहले आपको यह जान लेना अतिआवश्यक होता है कि बीएड में कौन कौन से विषय होते है। दोस्तों अगर कहा जाए तो बीएड का कोर्स करने के लिए विभिन्न विषयों का अध्ययन किया जाता है

परंतु यह आप पर निर्धारित होता है कि आप कौन से विषय का चयन करते है। विषय चयन प्रक्रिया के समय यह ध्यान रख लेना अतिआवश्यक है कि आपने अपना ग्रेजुएशन किस विषय के द्वारा किये है और यह भी ध्यान रखने योग्य बात है कि आपका सबसे अच्छा और पसंदीदा विषय कौन कौन सा है। दोस्तों विषय चयन प्रक्रिया के समय आपको वही विषय का चुनाव करना है जो आपको अच्छा लगता है और आप जिस विषय का शिक्षक बनना चाहते है। यानी कि आप जिस विषय के साथ बीएड करेंगे आपको स्पेशल वही विषय का शिक्षक का पद दिया जायगा।

अगर बात करें बीएड में कितने विषय होते है तो इसमें बहुत से विषयों का अध्ययन अलग अलग श्रेणी में किये जाते है। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो अलग अलग विषयों का अध्ययन अलग अलग प्रकार से किया जाता है और उनमें भिन्न भिन्न प्रकार का टॉपिक्स और अध्ययन विषय होते है। आइए हम इसके बारे में विस्तार से जानने का प्रयास करते है।

बीएड में निम्नलिखित विषय श्रेणियों का अध्ययन करना होता है

  • मार्गदर्शन और परामर्श
  • शिक्षा का दर्शन
  • शिक्षा, संस्कृति और मानव मूल्य
  • शैक्षिक मूल्यांकन और आकलन
  • व्यापार और शारीरिक शिक्षा
  • जैविक और प्राकृतिक विज्ञान
  • सम्रग शिक्षा
  • शैक्षणिक मनोवैज्ञान

बीएड में कुछ ऐसे भी विषयों का अध्ययन किया जाता है जिसे आप अपने तरीके से चुनाव कर सकते है और उसका अध्ययन कर सकते है। वे विषयों का नाम नीचे बताया गया है-

  1. रसायन विज्ञान
  2. भौतिक विज्ञान
  3. होम साइंस (घरेलू विज्ञान)
  4. राजनीतिक विज्ञान
  5. अर्थशास्त्र
  6. भूगोल
  7. गणित
  8. हिंदी
  9. अंग्रेजी
  10. कंप्यूटर शिक्षा
  11. विशेष शिक्षा
  12. हियरिंग इम्पेरेड

बीएड करने में कौन कौन से Pedagogy या Methodology विषयों का अध्ययन करना होता है

दोस्तों बीएड करने के लिए आपको दो पेडागोजी (Pedagogy) या मेथडॉलॉजी (Methodology) विषयों का अध्ययन करना अतिआवश्यक होता है। हम आपको बता कि पेडागोजी (Pedagogy) का अर्थ ‘शिक्षाशास्त्र शिक्षण की विधियों और गतिविधियों का अध्ययन’ होता है।

वहीं Methodology का अर्थ ‘विशिष्‍ट सिद्घांतों और विधियों पर आधारित कार्य प्रणाली’ होता है। बीएड के कोर्स में आपको इन्ही दो को बराबर मैन कर पढ़ना होता है। अर्थात इसमें कोई विशेष अंतर नही होता है। अब हम जानते है कि बीएड करने में कौन कौन से पेडागोजी (Pedagogy) या मेथडॉलॉजी (Methodology) विषयों का अध्ययन करना होता है

  • Pedagogy/Methodology Of Hindi
  • Pedagogy/Methodology Of Mathematics
  • Pedagogy/Methodology Of Social Science
  • Pedagogy/Methodology Of Home Science
  • Pedagogy/Methodology Of Home Science
  • Pedagogy/Methodology Of Physical Education
  • Pedagogy/Methodology Of Sanskrit
  • Pedagogy/Methodology Of Sociology

इत्यादि।

Most Read:- B ED Kitne Saal ka Hota hai | B ED कितने साल का होता है

बीएड प्रवेश परीक्षा का सिलेबस

अब हम जानते है कि बीएड प्रवेश परीक्षा का सिलेबस क्या होता है

सामान्य ज्ञान:- इसमें आपको मुख्य रूप से इतिहास, सामयिकी, राजनीति और सामान्य विज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है इसलिए इन विषयों के बारे में आपको अध्ययन करना होता है।

मौखिक योग्यता:- मौखिक योग्यता में आपसे युक्तिवाक्य, पैराग्राफ आधारित पहेलियाँ, बार, पाई और लाइन चार्ट डेटा इंटरप्रिटेशन, और बैठने की व्यवस्था के बारे में सवाल किए जाते है इसलिए इन सभी विषयों में आपको अत्यधिक जानकारी होना अतिआवश्यक होता है।

शिक्षण योग्यता:- आपके पास शिक्षण योग्यता होना बेहद जरूरी है यानी आपको निम्नलिखित बातों का ज्ञान होना अतिआवश्यक है- शिक्षण की प्रकृति, उद्देश्य, विशेषताएं और बुनियादी आवश्यकताएं, शिक्षण को प्रभावित करने वाले कारक, शिक्षण में मददगार सामग्री, और पढ़ाने के तरीके

तार्किक विचार:- तार्किक विचार में आपसे श्रृंखला समापन, प्रतिस्थापन और इंटरचेंजिंग, वर्णमाला के परीक्षण और वर्गीकरण का सिद्धांत जैसे संबंधित प्रश्न किये जाएंगे जिसका उतर आपको विचार करके पूरा करना होता है।

मात्रात्मक रूझान:- इसमें आपसे प्रतिशत, अनुपात, औसत और लाभ हानि से संबंधित प्रश्नों को पूछा जाता है। इसलिए गणित विषय मे इन सभी चीजों के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेना अतिआवश्यक होता है।

बीएड पाठ्यक्रम विषय सूची (B.Ed subjects syllabus)

जैसे कि हम सब पहले से ही जानते है और हमने आपको ऊपर भी बताया कि बीएड का कोर्स पूरे 2 वर्ष का होता है जिसमे से आपको कुल 4 सेमेस्टर का परीक्षा देनी होती है। दोस्तों अब हम जानने वाले है कि आखिर बीएड का पाठ्यक्रम विषय सूची क्या होती है अर्थात आपको कब कौन से विषयों का अध्ययन करना है।

बीएड पहला सेमेस्टर (Semester I):- बीएड के पहले सेमेस्टर में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न पूछे जाते है-

  1. स्कूली शिक्षा में विकास और प्रबंधन
  2. बचपन और बड़ा होना
  3. लिंग, स्कूल और समाज
  4. समकालीन भारत में शिक्षा
  5. संचार कौशल और व्याख्यात्मक लेखन
  6. स्वयं, व्यक्तित्व और योग को समझना
  7. शिक्षा में आईसीटी
  8. पाठ्यचर्या के पार भाषा

बीएड दूसरा सेमेस्टर (Semester II):- बीएड के दूसरे सेमेस्टर में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न पूछे जाते है-

  1. सामग्री और शिक्षाशास्त्र 1 भाग- I
  2. सामग्री और शिक्षाशास्त्र 2 भाग I
  3. सीखना और सिखाना
  4. ललित कला और रंगमंच सीखने के लिए
  5. आकलन
  6. पूर्व इंटर्नशिप
  7. आईसीटी अनुप्रयोग

बीएड तीसरा सेमेस्टर (Semester III):- बीएड के तीसरे सेमेस्टर में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न पूछे जाते है-

  1. सामग्री और शिक्षाशास्त्र 1 भाग- II
  2. सामग्री और शिक्षाशास्त्र 2 भाग- II
  3. शिक्षण सामग्री के साथ कौशल नकली पाठ
  4. स्कूल इंटर्नशिप

बीएड चौथा सेमेस्टर (Semester IV):- बीएड के चौथा सेमेस्टर में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न पूछे जाते है-

  1. मार्गदर्शन और परामर्श
  2. एक समावेशी स्कूल बनाना
  3. राष्ट्रीय चिंता और शिक्षा
  4. ज्ञान और पाठ्यचर्या
  5. व्यावहारिक परीक्षा

Most Read:- B ED ki Fees Kitni Hai | बीएड की फीस कितनी है

बीएड कोर्स क्या है? (What is B.Ed corse in hindi?)

B Ed का फूल फॉर्म बैचलर ऑफ एडुकेशन होता है जिसे हिंदी में ‘शिक्षा स्नातक’ कहते है। यह एक अंडरग्रेजुएट पेशेवर डिग्री है जिसे प्राप्त करने के बाद शिक्षक बनने के प्रथम चरण को हासिल किया जाता है। अर्थात इस कोर्स को वे लोग करते है जो अपना कैरियर शिक्षक के रूप में यानी कि टीचिंग फील्ड, लेक्चरर जॉब्स, ट्रेनिंग फैकल्टी आदि में बनाना चाहते है।

बीएड का कोर्स कितने वर्ष का होता है? (How long is the B.Ed course?)

दोस्तों बीएड (B Ed) का कोर्स 2 वर्ष का होता है जिसमे से आपको कुल 4 सेमेस्टर की परीक्षा देनी होती है। और फिर इसके बाद एमएड (M Ed) किया जाता है जिसे ‘मास्टर ऑफ एडुकेशन’ कहा जाता है।

बीएड करने में कितना पैसा लगता है? (How much does it cost to do B.Ed in hindi?)

इस कोर्स को पूरा करने में कितना खर्च होता है यह आपके चुने गए कॉलेज और आपके लिए गए विषयों पर निर्भर करता है। अगर अनुमानतः कहा जाए तो इस कोर्स को पूरा करने में लगभग 50,000 से 60,000 रुपये प्रतिवर्ष चुकाना होता है। यह फीस अलग अलग विश्वविद्यालय और कॉलेजों के लिए अलग अलग हो सकती है।

बीएड करने के लिए योग्यता (Eligibility to do B.Ed in hindi)

इस कोर्स को करने के लिए छात्र को अपने बैचलर्स ऑफ आर्ट्स, या बैचलर्स ऑफ कॉमर्स या बैचलर्स ऑफ साइंस इन सभी स्ट्रीम में से किसी एक सट्रिम से 50 प्रतिशत अंको के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से उतीर्ण होना आवश्यक होता है। इस कोर्स की परीक्षाएं जून-जुलाई महीने में ली जाती है जिसका परिणाम भी अंतिम जुलाई या अगस्त में आ जाती है।

बीएड करने के बाद शिक्षक की सैलरी कितनी होती है?

दोस्तों जब आप अपना बीएड का कोर्स पूरा कर लेते है तो आपको एक शिक्षक बनने की योग्यता या डिग्री प्राप्त हो जाती है। अगर बात करें एक बीएड किया हुआ शिक्षक की सैलरी के बारे में तो यह उसके पॉस्ट पर निर्भर करता है। अर्थात बीएड कंपलीट हो जाने पर दो तरह के शिक्षक के रूप में भर्ती की जाती है

  • TGT (Trained Graduate Teacher)
  • PGT (Post Graduate Teacher)

एक TGT (Trained Graduate Teacher) का इनकम 3 लाख प्रतिवर्ष तक या इस से भी ज्यादा हो सकती है। वहीं एक PGT (Post Graduate Teacher) का इनकम 4.5 लाख प्रतिवर्ष या इस से भी ज्यादा हो सकती है।

Most Read:- B.com Me Kitne Subject Hote hai | बीकॉम में कितने सब्जेक्ट होते है

निष्कर्ष

आज आपने B ED Me Kitne Subject Hote hai इसके बारे में जाना है और हमें उम्मीद है की बीएड से जुडी काफी जानकारी आपको अच्छे से पता चल गया होगा तो B ED में कौन-कौन से विषय होते हैं? यह जानकारी पसंद आई है तो इसे शेएर कर सकते है और यदि इसी तरह की आर्टिकल आपको पढ़नी है तो आप इस वेबसाइट को बुकमार्क करके रख सकते है इसमें हम Education के सम्बंधित जानकारी देते रहता हूँ